Journeys🧑‍🦯 Explorations🪂 and Adventures🧗
Yamunotri
Yamunotri

Yamunotri

Yamunotri उत्तराखंड मैं उत्तरकाशी से 30 किमी की दूरी पर स्तिथ यमुना नदी का स्रोत है।यह स्थान छोटी चार धाम यात्रा के चार स्थानों मैं से एक है और इसकी ऊंचाई लगभाग 3293 मीटर की है। यहाँ का मुख्य आकर्षण मां यमुना को समर्पित यमुनोत्री मंदिर है।यमुनोत्री मंदिर हर साल 6 महीने खुला रहता है। मंदिर सुबह 6 बजे से रात 8 बजे तक खुला रहता है। आरती का समय सुबह 6:30 बजे और शाम 7:30 बजे है।यह चारों ओर से पहाड़ों से घिरा हुआ है और भारत-चीन सीमा के निकट स्थित है। 

Places to visit in Yamunotri

1.Kharsali

yamunotri

खरसाली, जिसे खुशीमठ के नाम से भी जाना जाता है,अक्षय तृतीया पर यहां यमुनोत्री मंदिर से मां यमुना की प्रतिमा को स्थानांतरित किया जाता है। भाई दूज पर, भगवान सोमेश्वर के साथ मूर्ति अगले 6 महीनों के लिए यमुनोत्री में वापस कर दी जाती है। इस मंदिर मे 6 महीने तक देवी यमुना की मूर्ति रखी जाती है।

खुशीमठ में भारत का सबसे पुराना शनि देव मंदिर है। इस मंदिर में छह महीने तक देवी यमुना की मूर्ति रखी जाती है। यह गावँ बहुत ही सुंदर है यहां से आपको बेहद ही खूबसूरत नज़ारे देखने को मिलते है ।

2.Barkot,Yamunotri

barkot yamunotri

बरकोट एक आकर्षक हिल स्टेशन है और उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में स्थित Yamunotri के पास स्तिथ है।बड़कोट अपने ट्रेकिंग ट्रेल्स, व्हाइट वाटर राफ्टिंग और बंदरपूच पर्वत के शानदार दृश्य के लिए जाना जाता है। यह चार धाम यात्रा पर सही पड़ाव के रूप में भी कार्य करता है।

3.Janki chatti,Yamunotri

janki chatti yamunotri

जानकीचट्टी अपने गर्म पानी के झरनों के लिए बहुत ही प्रसिद्धि है,यह स्थान समुद्र तल से 2,650 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है,और यही से yamunotri की यात्रा भी प्रारम्भ होती है,यहां से यमुनोत्री तक कि दूरी 6 किमी की जिसको पूरा करने मे लगभाग 2.5 से 3 घंटे का समय लगता है इस ट्रैक को आप चाहे तो पैदल भी पार कर सकते है या चाहे तो खच्चर पर कर सकते है ,यहाँ से आपको पालकी और पिठू भी उपलब्ध है। यह जगह बेहद से खूबसूरत और शांत है । आप यहाँ कम बजट मैं अच्छे होटल या लॉज मैं रह भी सकते है क्योंकि यमुनोत्री की यात्रा 1 दिन मैं पूरी करनी होती है तो आमतौर पर पर्यटक यही पर आकर रुकते है।

4.Yamunotri temple

yamunotri temple

यह मंदिर yamunotri का प्रमुख़ आकर्षण है यह मंदिर हिमालय की गोद मे बसा हुआ है चारों ओर से प्रक्रति से घिरे होने की वजह से बेहद ही सुनदर है इस मंदिर की सुनदरता आपको मंत्रमुग्द कर देगी,यमुनोत्री मंदिर हर साल 6 महीने खुला रहता है। मंदिर सुबह 6 बजे से रात 8 बजे तक खुला रहता है। आरती का समय सुबह 6:30 बजे और शाम 7:30 बजे है।यह चारों ओर से पहाड़ों से घिरा हुआ है और भारत-चीन सीमा के निकट स्थित है। yamunotri temple माँ यमुना को समर्पितं है। यहाँ पर आपको कई गर्म पानी के झरने देखने को मिलते है।

5.Divya shila

दिव्य शिला मुख्य यमुनोत्री मंदिर के बाहर स्थित एक पवित्र पत्थर है। भक्त यमुनोत्री मंदिर में प्रवेश करने से पहले दिव्य शिला की पूजा करते हैं। आमतौर पर, तीर्थयात्री सूर्य कुंड में स्नान करते हैं और चावल और आलू को मलमल के कपड़े में बांधकर पकाते हैं। यह प्रसाद पहले दिव्य शिला में चढ़ाया जाता है और फिर यमुनोत्री मंदिर में ले जाया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.