Journeys🧑‍🦯 Explorations🪂 and Adventures🧗
Badrinath
Badrinath

Badrinath

Badrinath,उत्तराखंड के चमोली जिले मे स्तिथ है ,जो कि भारत के चार धाम यात्रा के तीर्थस्थल मैं से एक है।badrinath,भगवान विष्णु को समर्पित मंदिर के लिए जाना जाता है,यह मंदिर 10279 फ़ीट की ऊंचाई पर स्तिथ है और माना जाता है कि संत आदि संक्रचार्य द्वारा इसकी स्थापना की गई थी।मंदिर में भगवान विष्णु की एक काले पत्थर की मूर्ति है जो 1 मीटर लंबी है, बद्रीनाथ मंदिर हर साल नवंबर से अप्रैल तक छह महीने के लिए बंद रहता है,यह शहर बहुत ही सुंदर है चारो तरफ आपको प्रक्रति की सुंदरता और पूरे बद्रीनाथ के बातावरण मैं शांति और भक्ति देखने को मिलती है ।



Must know

  • Badrinath सड़क मार्ग से पहुँचा जा सकता है और इसलिए इस तीर्थ स्थान तक गाड़ी चलाना मुश्किल नहीं है।
  • बद्रीनाथ मंदिर हर साल नवंबर से अप्रैल तक छह महीने के लिए बंद रहता है। अक्टूबर में भत्रिद्वितिया के शुभ दिन पर मंदिर पूजा के लिए बंद कर दिया जाता है। बंद होने के दिन, छह महीने तक चलने के लिए एक अखंड ज्योति दीपक जलाया जाता है और बद्रीनाथ की छवि को ज्योतिर्मठ के नरसिंह मंदिर में स्थानांतरित कर दिया जाता है। बद्रीनाथ हर साल अप्रैल में एक शुभ दिन अक्षय तृतीया पर फिर से खुलता है।
  • बद्रीनाथ मंदिर सुबह 4:30 बजे महाभिषेक के साथ खुलता है। यह जनता के लिए सुबह 6:30 बजे खुलता है और रात 9:00 बजे बंद हो जाता है। यह दोपहर 1:00 बजे से अपराह्न 3:00 बजे तक बंद रहता है। मंदिर जाने का सबसे अच्छा समय सुबह की पूजा के दौरान सुबह 6:30 बजे है।

Places to visit in Badrinath

1.Badrinath temple

badrinath temple

Badrinath temple बहुत ही famous है क्योंकि यह पवित्र मंदिर भारत की चार धाम तीर्थयात्रा स्थलों मैं से एक है।हर साल यहाँ लाखों पर्यटक आते है।मंदिर में भगवान विष्णु की एक काले पत्थर की मूर्ति है जो 1 मीटर लंबी है, बद्रीनाथ मंदिर हर साल नवंबर से अप्रैल तक छह महीने के लिए बंद रहता है,यह शहर बहुत ही सुंदर है चारो तरफ आपको प्रक्रति की सुंदरता और पूरे बद्रीनाथ के बातावरण मैं शांति और भक्ति देखने क

2.Brahma kapal, Badrinath

brahma kapal badrinath

ब्रह्मा कपाल उत्तराखंड मैं badrinath के पास स्तिथ है जो कि अलकनंदा नदी के तट पर एक धार्मिक स्थान है माना जाता है कि भगवान ब्रह्मा यहाँ आज भी मौजूद है लोग अपने पूर्वजों का अंतिम संस्कार यही पर करते है।यह स्थान बद्रीनाथ की पहाड़ियों से लगभग दो किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। 

3.Vyas gufa, Badrinath

vyas gufa badrinath

व्यास गुफा उत्तराखंड के चमोली जिले के माणा गावँ मैं स्तिथ है जो कि badrinath से कुछ ही किलोमीटर की दूरी पर स्तिथ है। यह बहुत ही प्राचीन गुफा है जहां पर महर्षि वेद व्यास ने भगवान गणेश की मदद से महाभारत का दस्तावेजीकरण किया था। इसी गुफा में महर्षि वेदव्यास द्वारा कई अन्य पुराणों, सूत्रों और वेदों की भी रचना की गई थी।यह गुफा बहुत ही सुंदर है और इसकी खास बात तो इसकी छत मैं है क्योंकि इस गुफा की छत पर लिपि लिखी हुई है।

4.Charanpaduka

charanpaduka badrinath

यह स्थान Badrinath के मुख्य आकर्षणों मैं से एक है जो कि बद्रीनाथ से 3 किमी की दूरी पर और 3380 फ़ीट की ऊंचाई पर स्तिथ है ।ऐसा माना जाता है कि इस स्थान पर एक चट्टान पर भगवान विष्णु के पैरों के निसान है। ऐसा भी माना जाता है कि भगवान विष्णु ने सबसे पहले धरती पर पैर इसी जगह पर रखे थे। इस स्थान को एक धार्मिक स्थल के रूप मे माना जाता है और काफी पर्यटक यहां पर आते है,यहाँ तक पहुंचने के लिए आपको एक छोटा सा ट्रेक करना होता है,जिसको पूरा करने मे लगभाग 1.5 घंटे ही लगता है।

5.Bheem pul

bheem pul badrinath

भीम पुल उत्तराखंड के Badrinath के पास सरस्वती नदी पर एक प्राकृतिक पत्थर का पुल है, जिसके बारे में माना जाता है कि पांडव भाइयों में से एक भीम ने वहां से गुजरते समय खोजा था। कुछ लोग कहते हैं कि पुल का निर्माण एक पत्थर द्वारा किया गया था जिसे भीम ने नदी पार करने के लिए एक रास्ता बनाने के लिए पहाड़ों के बीच फेंका था। फिर भी, आश्चर्यजनक प्राकृतिक पुल और इसके माध्यम से बहने वाली भयंकर सरस्वती नदी एक लुभा

6.Tapt kund

tapt kund badrinath

तप्त कुंड बद्रीनाथ मैं स्तिथ एक प्राकृतिक गर्म पानी का स्रोत है,जिसका तापमान लगभाग 45 डिग्री सेल्शियस तक गर्म होता है ,माना जाता है कि इस पानी औषधीय गुण होते है,जिससे कई त्वचा रोगों का इलाज होता है।

7.Sheshnetra

seeshnetra badrinath

यह स्थान badrinath से थोड़ी ही दूरी पर स्तिथ है हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान विष्णु ने अनंत शेष नाम के एक सांप पर शरण ली थी।।यहाँ पर एक चट्टान है जिस पर शेष नाग की आंख पर भगवान विष्णु लेटे हुए अंकित है । यह स्थान बहुत ही प्रसिद्ध है यहाँ पर काफी पर्यटक आते है।

8.Mana village

mana village badrinath

माणा गावँ उत्तराखंड के चमोली जिले मे भारत- तिब्बत सीमा का आखिरी भारतीय गावँ है जो कि 3219 मीटर की ऊंचाई पर स्तिथ है। इस गावँ को भारत ने पर्यटन गावँ घोसित किया है। माणा एक प्रमुख आकर्षण मैं से है क्योंकि यह badrinath से सिर्फ 3 किमी की दूरी पर स्तिथ है और यहाँ पर काफी पर्यटक आते है।

9.Mana pass

माना पास दुनिया के सबसे ऊंचे मोटर वाहन योग्य पास मैं से एक है जिसकी ऊंचाई लगभग 5632 मीटर की है ,माना दर्रा भारत और चीन के बीच की सीमा पर उत्तराखंड में बद्रीनाथ के पास माणा गांव में हिमालय में स्थित है। यह पास मोटर बाइक राइडर्स के बीच काफी फेमस है ।

10.Narad Kund

नारद कुंड Badrinath मैं स्तिथ एक पवित्र स्थान है,जहां पर एक गर्म पानी का झरना है,ऐसा माना जाता है कि जहाँ से आदि शंकराचार्य ने भगवान विष्णु की मूर्ति की खोज की थी।जो भी भक्त badrinath दर्शन के लिए जाता है वो पहले इस कुंड मैं एक बार डुबकी जरूर लगाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.